Natarang Pratishthan

Natarang Pratishthan
Archive and Resource Centre for Indian Theatre

Contact Us |
Powered by: Google
|  Home  |  The Pratishthan  |  Archives  |  Documentation  |  Events  |  Catalogue  |  Natarang, the Quarterly Magazine  |  People  |
Andher Nagri, Writer: Bhartendu Harishchandr, Director: B. V. Karanth.
Image: Andher Nagri, Writer: Bhartendu Harishchandr, Director: B. V. Karanth. (NP Acc. No. 1659)

Natarang Pratishthan Documentation Catalogue

Click here to type in Hindi.
or press 'Ctrl+g' from keyboard.
  • Books (37)
    • Displaying records 6 - 10 of 37.
      | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
    • Serial No: 6
      Title: रंगमंचः कला और दृष्टि
      Writer/Editor: गोविन्द चातक
      Language: हिन्दी
      Publisher/Place: तक्षशिला प्रकाशनए दरियागंजए दिल्ली
      Year: 10/06/1905
      Source/Accession No: साहित्य अकादमी ध् एचण् 3885
      Description/Notes: पृण्.196 . बंसी कौल का निर्देशन के रूप में विशेष ख्याति अर्जित करने का उल्लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 7
      Title: हिन्दी के रंगमंचीय नाटकों का शिल्प विधान
      Writer/Editor: चन्द्रसेन नवाणी
      Language: हिन्दी
      Publisher/Place: साहित्य परिषद, अहमदाबाद
      Source/Accession No: न.प. / 2459
      Description/Notes: पृ0-165(निर्देशन के परिपे्रक्ष्य में हिन्दी के रंगमंचीय नाटक): इब्राहिम अल्काजी के निर्देशन में बंसी कौल के निर्देशक बनने का उल्लेख। पृ0: 168-169: अल्प समय में 50 से अधिक नाटकों का सफल निर्देशन व 25 रंगशिविरों में भागीदारी। रा.ना.वि. में प्रशिक्षित और कारंत की भांति लोकधर्मी चेतना का समावेश, अल्का जी की तरह चित्रकला की सम्प्रेक्षण शक्ति का प्रभाव, दृश्य सज्जा की संरचना मौलिक, निर्देशित उल्लेखनीय प्रस्तुतियों का उल्लेख। पृ0-213 (रंगमंचीय शिल्प के परिपे्रक्ष्य में, हिन्दी के रंगनाटक): दृश्य सज्जा के संबंध में बंसी कौल के इस मत का उल्लेख कि अभिनेता को देखना है कि दृश्य सज्जा उसकी मदद करे, न कि वह दृश्य सज्जा की मदद करें(नटरंग 38 उप पृ23) पृ0-221(रंगमंचीय शिल्प के परिप्रेक्ष्य में हिन्दी के रंग नाटक): दृश्य सज्जा का बहु आयामी प्रयोग करने वाले निर्देशकों में बंसी कौल का उल्लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 8
      Title: अंधायुग: पाठ और प्रदर्शन
      Writer/Editor: जयदेव तनेजा
      Language: हिन्दी
      Publisher/Place: राष्ट्रीय नाट्क विद्यालय, दिल्ली
      Year: 20/06/1905
      Source/Accession No: न.प. / 1360
      Description/Notes: 187पृ0, 23फोटो, पृ0-152(प्रदर्शन)ः अक्टूबर 1979 में सिंधिया स्कूल, ग्वालियर के दस पन्द्रह वर्ष की आयु के बच्चों के साथ बंसी कौल द्वारा ’अंधायुग’ का सीधा सादा मंचन। इस प्रस्तुति में आलेख का पर्याप्त संपादन। पृ0-154: भारत भवन के मुक्ता काशी ’बहिरंग’ में बंसी कौल द्वारा काले-भूरे दृश्यबंध पर ’अंधायुग’ की पूर्व प्रस्तुतियों की अपेक्षा कुछ भिन्न प्रस्तुति का उल्लेख। इस प्रस्तुति में कथा गायन द्वारा नए आयाम देने का निर्देशक द्वारा उल्लेख छाउ नृत्य गतियों तथा वेशभूषा और मुखौटों से आदित्य कबीलाई रंगत प्रदान करने का प्रयास। पृ0-155: बंसी कौल द्वारा ’अंधायुग’ में युद्ध के विक्षुब्ध, भयाकांत, आस्थाहीन, विवेक शून्य और कुंठित हुए चरित्रों के अघ्ययन - विश्लेषण पर अधिक बल दिए जाने का उल्लेख । निर्देशक द्वारा नाटक के काव्य बिम्बों को खूबसूरती से उभारने का उल्लेख। पृ0-155: बंसी कौल की प्रस्तुति में कारंत द्वारा नाट्य संगीत। पृ0-176(उपसंहार): बंसी कौल के निर्देशन में ’अंधायुग को दो-दो बार अलग अलग रंग रूपों में प्रस्तुत किए जाने तथा स्वयं को इसकी कसौटी पर कसे जाने का उल्लेख। पृ0-177: बंसी कौल द्वारा ’अंधायुग’ की प्रस्तुति में यथार्थ और रीति बद्धता के संयोग से नई शौली । उन्होंने अंधायुग को देखते हुए निरर्थक सी ध्वनियों का सार्थक उपयोग किया।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 9
      Title: आज के हिन्दी रंग नाटक: परिवेश और परिदृश्य
      Writer/Editor: जयदेव तनेजा
      Language: हिन्दी
      Publisher/Place: तक्षशिला प्रकाशन, दरियागंज, दिल्ली
      Year: 02/06/1905
      Source/Accession No: साहित्य अकादमी पुस्तकालय / 52044
      Description/Notes: पृ0-112: लक्ष्मीनारायण लाल के नाटक ’पंच पुरूष’ को बंसी कौल द्वारा संचालित तथा निर्देशित आगरा के नाट्य शिविर में प्रस्तुत नाटक ’संस्कार ध्वज’ का ही नया रूप होने का उल्लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 10
      Title: आधुनिक भारतीय रंग.परिदृश्य
      Writer/Editor: जयदेव तनेजा
      Language: हिन्दी
      Publisher/Place: तक्षशिला प्रकाशनए दरियागंजए दिल्ली
      Year: 14/06/1905
      Source/Accession No: नण् प्रण्
      Description/Notes: पृण्.21;आधुनिरक भारतीय रंगकर्मः वर्तमान परिदृश्यद्ध . अपने स्तरीय रंगकर्म और रंग प्रशिक्षण शिविरों के माध्यम से नई रंग चेतना लाने का उल्लेख। पृष्ठ 22 . बंसी कौल का ष्अंदनम अदावोदनमष् मनोरंजन भर ही होने का उल्लेख। पृण् 24 . संगीत नाटक अकादमी की ओर से पारंपरिक रंगशैलियों में नए प्रयोग योजना के अन्तर्गत बंसी कौल का मालवी प्रदर्शन ष्खेल गुरू काष् महत्वपूर्ण। पृण्180 से 182 ;आधुनिक भारतीय रंगमंच की खोजद्ध . संक्षिप्त परिचय और ष्पिनम थियम् सस्थी रंगलष् ;तमिलद्ध का विशेष उल्लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
  • Newspaper Clippings (121)
    • Displaying records 1 - 5 of 121.
      | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
    • Serial No: 1
      Writing Form/Subject: महोत्सव समीक्षा
      Writer: अजित राय
      Title: तेरह देश, सोलह भाषाएं और सतासी नाटक
      Newspaper Name: जनसत्ता, नयी दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: 03.01.2010.
      Source: न.प.
      Description/Notes: बारहवें भारंगम का उद्घाटन बंसी कौल निर्देशित रंग्र संगीत पर आधारित प्रस्तुति नाट्यनाद से होने का उल्लेख, स्थान-कमानी सभागार, दिनांक-06.01.2010, समय संध्या 6 बजे।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 2
      Writing Form/Subject: लेख
      Writer: अजित राय
      Title: रंगमंच का विद्रोही कारीगर: प्रसन्ना
      Newspaper Name: अमर उजाला, नयी दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: 13.01.2008
      Source: न.प.
      Description/Notes: ’बंसी कौल की हिन्दी रंगमंच को प्रतिष्टित करने में अहम भूमिका।’ लेख प्रसन्ना पर केन्द्रित।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 3
      Writing Form/Subject: साक्षात्कार
      Writer: अमलेश राजू
      Title: थियेटर को सामाजिक नेतृत्व की भूमिका निभानी होगी
      Newspaper Name: हिन्दुस्तान, पटना
      Language: हिन्दी
      Date: 18.06.1997
      Source: न.प.
      Description/Notes: आज पूरे समाज में हंसी के खिलाफ अघोषित साजिश चल रही है।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 4
      Writing Form/Subject: साक्षात्कार
      Writer: अशोक राही
      Title: एक घुमंतू थिएटर बनाना चाहिए
      Newspaper Name: जनसत्ता
      Language: हिन्दी
      Date: 10.04.1985.
      Source: न.प.
      Description/Notes: टेंट थियेटर पर जोर। विदूषक अनिवार्य।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 5
      Writing Form/Subject: विमर्श
      Writer: आनन्द गुप्त
      Title: रंगमंच रोजगार की गारंटी कब देगा
      Newspaper Name: संडे मेल
      Language: हिन्दी
      Date: 07.01.1990.
      Source: न.प.
      Description/Notes: बंसी कौल के अनुसार हर स्तर पर व्यवसायिक रंगमंच की जरूरत पर जोर। रंगमंच से रोजगार पर राम गोपाल बजाज, के.सी.वर्मा, सुभाष गुप्ता, विमल लाठ, नेमीचन्द्र जैन के विचार।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
  • Periodicals (132)
    • Displaying records 1 - 5 of 132.
      | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
    • Serail No: 1
      Writing Form: साक्षात्कार
      Writer: बंसी कौल
      Title: भायावर
      Journal: अभिनय, अन्तर्देशीय नाट्य पत्र, दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: 1981
      Volume: 09/04/1900
      Source: न.प. / 183
      Description/Notes: पृ0ः 46-48: बंसी कौल् से हिन्दी रंगमंच, नाट्य लेखन व रंगशिविर आदि पर महेश आनन्द की बातचीत।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serail No: 2
      Writing Form: संदेश
      Writer: बंसी कौल
      Title: हर स्तर पर व्यावसायिक रंगमंच
      Journal: अभिनय, अन्तर्देशीय नाट्य पत्र, दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: 1981
      Volume: 09/04/1900
      Source: न.प. / 183
      Description/Notes: पृ0-50: विश्व रंगमंच दिवस पर संदेश में बंसी कौल ने रंगमंच को व्यावसायिकता की संज्ञा दी। (1980)
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serail No: 3
      Writing Form: लेख
      Writer: बंसी कौल, सत्येन कुमार
      Title: बाल रंगमंच: महत्व स्वरूप और समस्याऐं
      Journal: नटरंग, तैमासिक, दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: 1977
      Volume: 28/01/1900
      Source: न.प.
      Description/Notes: पृ0-38, से-41 बंसी कौल एवं सत्येन कुमार का बाल रंगमंच पर केन्द्रित लेख। ’’रंगकर्म के माध्यम से बच्चों का सही विकास हो सकता है।’’
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serail No: 4
      Writing Form: लेख
      Writer: बंसी कौल, सत्येन कुमार
      Title: बाल रंगमंच: महत्व स्वरूप और समस्याऐं, रंगकर्म: बच्चों के लिए जरूरत
      Journal: नटरंग, तैमासिक, दिल्ली
      Language: हिन्दी
      Date: अप्रैल- सितम्बर, 1977
      Volume: 28/01/1900
      Source: न.प.
      Description/Notes: पृ0-38, से-41 वर्ष-7, बाल रंगमंच पर केन्द्रित बंसी कौल का लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serail No: 5
      Writing Form: लेख
      Writer: अतुल्य सत्यूर्ति
      Title: मास्साब का किर्ति-स्तम्भ: दर्पण
      Journal: छायानट, लखनऊ
      Language: हिन्दी
      Date: अक्टूबर- दिसम्बर 2006
      Volume: 25/04/1900
      Source: न.प. / 2689
      Description/Notes: पृ0-34ः दर्पण कानपुर द्वारा बंसी कौल निर्देशित नाटकों का उल्लेख।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
  • Posters (1)
    • Displaying records 1 - 1 of 1.
      | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
    • Serial No: 1
      Play: धोबी घाट से मसान घाट तक
      Playwright: इम्तियाज अकबर
      Group/Place: रंग विदूषक, भोपाल, मध्यप्रदेश
      Director: बंसी कौल
      Place of Performance: श्रीराम सेन्टर, आॅडिटोरियम, दिल्ली
      Date: 9 सितम्बर 2009
      Source/Accession No: न.प. / 915
      Description/Notes: मोहन राकेश सम्मान अर्पण एवं नाट्य समारोह में आयोजित। रंगीन
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
  • Scripts (16)
    • Displaying records 1 - 5 of 16.
      | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
    • Serial No: 1
      Play: जंगल को आना पड़ा शहर
      Source/Accession No: न.प./353
      Description/Notes: रंग विदूषक संस्था की प्रस्तुति ’थियेटर लैव आफ क्लाउन’। 20 पृ0, 30ग21 से.मी.।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 2
      Play: अरण्याधिपति टण्टया मामा
      Source/Accession No: न.प. / 695
      Description/Notes: टंकित, 84पृ0, 21×29से.मी.
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 3
      Play: मर्डर इन कैथेड्रल - भय का सफर
      Playwright: टी.एस. इलियट, अनु.-मीनाक्षी पुरी
      Source/Accession No: न.प. / 689
      Description/Notes: 27पृ0, 29×21से.मी., मूल-इंगलिश(टंकित), बंसी कौल के निर्देशन में मंचित।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 4
      Play: ट्रैफिक जाम
      Playwright: नसीम खान
      Source/Accession No: न.प.
      Description/Notes: 51पृ0, 21×29से.मी., (टंकित), बंसी कौल के निर्देशन में यातायात की समस्या को दर्शाता एक नाटक। रंग विदूषक, भोपाल की प्रस्तुति।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • Serial No: 5
      Play: खेल गुरु का
      Playwright: बंसी कौल एवं सतीश दवे
      Source/Accession No: न.प./348
      Description/Notes: वत्सराज के मूल संस्कृत नाटक ’हास्य-चूड़ामणि’ पर आधारित। 48 पृ0, 30ग21 से.मी.।
      Director/Actor being documented: बंसी कौल
    • | FIRST | PREVIOUS | NEXT | LAST |
Total records found: 307